विज्ञापन
विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें – 9721975000 *

बिना यौन इच्छा के पल्स रेट चेक करना कोई अपराध नहीं’, दिल्ली की कोर्ट में बोले यौन उत्पीड़न के आरोपों से घिरे बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह

दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में महिला पहलवानों के यौन शोषण केस में सोमवार (16 अक्टूबर) को सुनवाई हुई। इस दौरान भारतीय कुश्ती संघ के पूर्व अध्यक्ष और बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह भी कोर्ट में मौजूद रहे। सुनवाई के दौरान बृजभूषण के वकील ने चार्ज फ्रेम करने की दिल्ली पुलिस की चार्जशीट पर अपनी दलीलें रखीं। बृजभूषण शरण सिंह के वकील ने दलील दी कि आरोपियों के खिलाफ लगाए गए आरोपों का कोई आधार नहीं है। वकील ने ये भी तर्क दिया कि आरोपी बृजभूषण शरण सिंह ने केवल पल्स रेट की जांच की थी। उन्होंने कहा कि बिना किसी यौन इच्छा के पल्स रेट चेक करना यानी नाड़ी की गति की जांच करना कोई अपराध नहीं है।  

बृजभूषण शरण सिंह के वकील ने क्या कहा…

छह महिला पहलवानों की शिकायतों के आधार पर दर्ज यौन उत्पीड़न के मामले में बृजभूषण शरण सिंह और विनोद तोमर पर आरोप पत्र दायर किया गया है। वकील ने कहा कि ओवरसाइट कमेटी का गठन किसी शिकायत के आधार पर नहीं किया गया था। इसका गठन युवा मामले और खेल मंत्रालय और गृह मंत्रालय को टैग करते हुए पोस्ट किए गए ट्वीट्स के आधार पर किया गया था। अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट ने आंशिक दलीलें सुनने के बाद मामले को आरोप पर आगे की बहस के लिए 19 अक्टूबर को सूचीबद्ध किया। बीजेपी सांसद की ओर से वकील राजीव मोहन पेश हुए और दलील दी कि 18 जनवरी, 2023 को जंतर-मंतर पर पहला विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ और 19 जनवरी को पहलवानों में से एक बबीता फोगाट ने केंद्रीय खेल मंत्री से मुलाकात की।

ओवरसाइट कमेटी की रिपोर्ट आरोप पत्र का हिस्सा…

उन्होंने आगे तर्क दिया कि 20 जनवरी 2023 को खेल मंत्रालय और गृह मंत्रालय को टैग किया गया था। सिंह की ओर से वकील राजीव मोहन ने कहा कि इस समय तक कोई शिकायत दर्ज नहीं की गई थी। बताया गया कि 23 जनवरी को निरीक्षण समिति का गठन किया गया था। उन्होंने कहा कि भारत सरकार के पत्र के आधार पर रिपोर्ट पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) नई दिल्ली को भेज दी गई है. बचाव पक्ष के वकील ने आगे तर्क दिया कि ओवरसाइट कमेटी की रिपोर्ट आरोप पत्र का हिस्सा है और दस्तावेजों पर निर्भर करती है। वकील ने तर्क दिया कि इसके (निगरानी समिति) गठन तक, कोई लिखित या मौखिक आरोप नहीं थे। सीमा अवधि के मुद्दे पर अधिवक्ता राजीव मोहन ने कहा कि अपराध छेड़छाड़ और यौन उत्पीड़न के बीच अंतर है। उन्होंने यह भी बताया कि ओवरसाइट कमेटी ने उन कोचों को बरी कर दिया जिनके खिलाफ आरोप लगाए गए थे। अधिवक्ता मोहन ने आगे तर्क दिया कि पत्र रिकॉर्ड पर है, जिससे पता चलता है कि ओवरसाइट कमेटी का गठन भारत सरकार द्वारा किया गया था।

साई को कोई शिकायत नहीं की…

उन्होंने कहा कि आरोपों का आधार किसी शिकायत पर आधारित नहीं है। चूंकि मंत्रालय या भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) को कोई शिकायत नहीं थी, इसलिए समिति ट्वीट के आधार पर आगे बढ़ी. उन्होंने कहा कि समिति के गठन के बाद भी कोई शिकायत दर्ज नहीं करायी गयी। ये भी प्रस्तुत किया गया कि शिकायतकर्ताओं को बुलाया गया था, उनके बयान दर्ज किए गए थे और कार्यवाही की वीडियो रिकॉर्डिंग की गई थी। समिति के समक्ष छह शिकायतकर्ताओं में से केवल दो हलफनामे दाखिल किये गये।

गवाह के बयान का किया जिक्र…

आरोपी के वकील ने एक गवाह के बयान का हवाला दिया, जिसने कहा था कि उसने कभी उसे (आरोपी को) किसी लड़की को अनुचित तरीके से छूते नहीं देखा. आरोपी के वकील ने कहा कि वह पल्स रेट की जांच करते थे। यौन इरादे के बिना नाड़ी जांचना कोई अपराध नहीं है। डब्ल्यूएफआई कार्यालय में कथित घटनाओं के मुद्दे पर बीजेपी सांसद ने कहा कि मैंने अपने डब्ल्यूएफआई कार्यालय में कभी किसी को नहीं बुलाया. शिकायतकर्ता खुद मुझसे मिलने आई थी। उन्होंने कहा कि शिकायतकर्ता अपने खेल पर नहीं बल्कि ट्वीट पर अधिक ध्यान दे रही थी। मुझे बिना किसी अवसर के सांस लेने के पैटर्न की जांच क्यों करनी चाहिए। मेरे कार्यालय में इसकी जांच करने का अवसर नहीं था। अगर मेरा इरादा छेड़छाड़ का था, तो मुझे पेट को छूकर सांस लेने का पैटर्न क्यों जांचना चाहिए था। वकील ने तर्क दिया कि शिकायतकर्ता द्वारा दिए गए हलफनामे में सांस परीक्षण का कोई जिक्र नहीं है। हालांकि, शिकायतों में इसका उल्लेख किया गया था।

औरंगाबाद में मॉब लिंचिंग का मामला; कार सवार तीन लोगों की हत्या को लेकर 6 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, वीडियो फुटेज से हुई पहचान     |     ट्रेन हादसा होते होते टला, प्लेटफॉर्म के पास मालगाड़ी के पहिए पटरी से उतरे, रेलवे टीम राहत-बचाव में जुटी     |     पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में बावरिया गिरोह के 8 सदस्य को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 6 हुए फरार     |     हत्यारा बना रूम पार्टनर; मामूली सी बात पर युवक की रस्सी से गला घोंटकर हत्या     |     हरणी झील में बड़ा हादसा; नाव पलटने से दो शिक्षकों और 13 छात्रों समेत 15 की हुई मौत      |     सरप्राइज देने के लिए पहाड़ी पर गर्लफ्रेंड को बुलाया, फिर चाकू से गला काटकर कर दी हत्या     |     बीमार ससुर से परेशान बहू ने उठाया खौफनाक कदम गला दबाकर की हत्या, आरोपी महिला को पुलिस ने किया गिरफ्तार     |     हत्यारों ने हैवानियत की हदें की पार,मां-बेटी की गला रेतकर बेरहमी से हत्या,शव के साथ हुई बर्बरता,शव देखकर कांप गए देखने वाले     |     अजब गजब:जीवित रहते हुए की अपनी तेरहवीं,तेरहवीं में शामिल हुआ पूरा गांव, 2 दिन बाद हुई मौत,हर कोई रह गया दंग     |     घोर कलयुग:जल्लाद बेटे का खूनी खेल,बीमा का पैसा हड़़पने के लिए मां को उतार दिया मौत के घाट     |     सपा को एक और बड़ा झटका, हत्या के मामले में लोकसभा क्षेत्र के प्रभारी को उम्रकैद की सजा     |     नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में शहीद जवान का हुआ अंतिम संस्कार, गांव में नहीं जले चूल्हे     |     अगर विधानसभा भंग हुई तो, तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को दे डाली खुली चुनौती     |     प्रयागराज-मिर्जापुर मार्ग पर भीषण सड़क हादसा; बोलेरो और कंटेनर की हुई भिडंत, दो की मौत आठ लोग हुए घायल     |     कलयुगी मां का रहस्य जान गया मासूम बेटा, तो मां ने समलैंगिक पार्टनर संग रची खौफनाक साजिश     |     शादी के चौथे दिन बाद पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर पति को उतारा मौत के घाट     |     यूपी में मुस्लिमों को रिझाने के लिए भाजपा करेगी उर्दू और अरबी भाषा में प्रचार, जानें क्या है प्लान     |     बाइक पर सवार थे तीन व्यक्ति,चेकिंग में रोका तो दंग रह गई पुलिस,बरामद हुई करोड़ों की मार्फीन     |     कलक्ट्रेट में किसान ने खुद को लगाई आग,मचा हड़कंप, मौके पर पहुंची पुलिस     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9721975000