प्रेस कॉन्फ्रेंस में तत्कालीन पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ़ अभिषेक सिंह ने मीडिया को बताया था कि प्रधान विपिन जायसवाल उर्फ सोनू की सरपरस्ती में उत्तर प्रदेश शासन लिखी गाड़ी से होती रही,गांजा तस्करी

गांजा तस्कर गिरोह का सरगना विपिन जायसवाल उर्फ सोनू सांसद प्रतापगढ़ संगम लाल गुप्ता और कैबिनेट मंत्री मोती सिंह का करीबी है, जिसकी वजह से प्रतापगढ़ की पुलिस फीलगुड करके अंततः उसे बचाकर पुलिस के दामन पर पोत दी,कालिख…

पहले मंत्री मोती सिंह ने गांजा तस्करी के सरगना सोनू जायसवाल का विरोध, परन्तु बाद में बढ़ गई थी, नजदीकियां...
तत्कालीन कैबिनेट मंत्री मोती सिंह का स्वागत करते गांजा तस्करी का सरगना विपिन जायसवाल उर्फ सोनू…

 

भाजपा सांसद संगम लाल गुप्ता का करीबी प्रधान संघ मंगरौरा का ब्लाक अध्यक्ष विपिन जायसवाल उर्फ सोनू को तत्कालीन पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ़ अभिषेक सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके मीडिया को बताया था कि मदाफरपुर ग्राम प्रधान विपिन जायसवाल उर्फ सोनू की सरपरस्ती में उत्तर प्रदेश शासन लिखी गाड़ी से गांजा की तस्करी का कार्य होता था। तत्कालीन पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने दावा किया था कि प्रधान संघ मंगरौरा का ब्लाक अध्यक्ष विपिन जायसवाल उर्फ सोनू अन्तर्राज्यीय गांजा तस्कर गिरोह का सरगना है। प्रतापगढ़ में पुलिस के हत्थे जब अन्तर्राज्यीय गांजा तस्कर गिरोह पकड़ा गया तब लगा था कि प्रतापगढ़ की पुलिस को बड़ी सफलता मिली है।

गांजा तस्करी वाले गिरोह के पास से लगभग 3 कुंतल गांजा, 1 लाख, 60 हजार नकदी, उत्तर प्रदेश शासन का मोनोग्राम बनाकर सफारी से बिना रोकटोक के गांजा की तस्करी होती थी। इंडिगो और 5 मोबाइल के साथ 4 तस्कर गिरफ्तार किये गए थे। जबकि सरगना समेत 4 गांजा तस्कर फरार हो गए थे। पुलिस अधीक्षक ने प्रेस वार्ता में बताया था कि कोहड़ौर थाना इलाके के मदाफरपुर गांव का दबंग प्रधान विपिन कुमार उर्फ सोनू जायसवाल गिरोह का सरगना है जो अभी पुलिस की गिरफ्त से दूर है। सरगना का साला सलवन निवासी सोनू जायसवाल समेत 4 लोंगो को माल की बरामदी के साथ गिरफ्तार किया गया है, जबकि मुख्य सरगना प्रधान संघ का ब्लाक अध्यक्ष विपिन कुमार उर्फ सोनू जायसवाल सहित 4 अभियुक्त अभी भी पुलिस की गिरफ्त से दूर है, जिनकी धरपकड़ को पुलिस हांथ पांव मार रही है।

पुलिस अधीक्षक का दावा है कि इस गिरोह की एक माह से निगरानी की जा रही थी और अब जाकर हमारी टीम को सफलता मिली, जिसकी अगुआई अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी सुरेंद्र दुबे, सीओ पट्टी रमेश चन्द्र कर रहे थे। इस टीम में स्वाट टीम व कंधई पुलिस भी शामिल थी। ये गिरोह उड़ीसा से भारी मात्रा में गांजे की खेप लाकर जिले में गांजा डंप करते थे, फिर अपनी सुविधानुसार आसपास के जिलों में उसे खपाया करते थे। इस गिरोह में कई जिलों के तस्कर शामिल है। पूंछतांछ के आधार पर अभी अन्य की तलाश जारी है। सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि ऐसे तस्कर सत्ताधारी दल के नेताओं से जुड़े होते हैं और उनके चुनावी जनसभा से लेकर उनके स्वागत समारोह में होने वाले खर्च को वो बर्दाश्त करते हैं। ताकि पुलिस प्रशासन उन पर अपना कानूनी शिकंजा कसने से पहले एक हजार बार विचार करे। इस गिरोह का सरगना भी भाजपा सांसद संगमलाल गुप्ता और कैबिनेट मंत्री राजेंद्र प्रताप उर्फ मोती सिंह का चहेता है।

जिले के लोगों के मन में ये उत्सुकता थी कि आखिर ये सोनू जायसवाल कौन है ? सोनू जायसवाल के विषय में जानने से पहले ये जानना आवश्यक है कि सोनू जायसवाल की पृष्ठभूमि क्या है ? ये दबंग कब और कैसे हुआ ? बताते चले कि सोनू जायसवाल सैकड़ों वर्ष से लगने वाली मदाफरपुर इलाकाई की बड़ी बाजार मालिक सेठ रहे स्व.बच्चा शाहू का पपौत्र है। सोनू जायसवाल के पिता पप्पू जायसवाल हैं जो जायसवाल समाज, प्रतापगढ़ के जिलाध्यक्ष भी रहे हैं। सेठ बच्चा शाहू के लड़के राधेश्याम जायसवाल रहे और राधेश्याम जायसवाल के लड़के पप्पू जायसवाल हैं। राधेश्याम जायसवाल तक मामला ठीक रहा और पप्पू के हाथ में कमान आते ही सेठ बच्चा शाहू की बनाई मार्केट का बंटाधार होने लगा। बची खुची कसर पप्पू जायसवाल के लड़के सोनू जायसवाल पूरी कर दिए। जब से सोनू जायसवाल राजनीति और धंधे में उतरे तब से सेठ बच्चा शाहू के बनाये हुए साम्राज्य में दिन प्रतिदिन गिरावट आने लगी।

गांजा तस्करी के धंधे से मालामाल हुए विपिन जायसवाल उर्फ सोनू बकायदा एक गिरोह बनाकर उसका सरगना बन बैठा और इलाके में अपनी दबंगई के बल पर अपना जलवा बिखेरना लगा। सोनू जायसवाल की राजनीति ग्राम प्रधान के चुनाव से शुरु हुई। राजनीतिक लोगों को अपने यहाँ बाजार में बुलाकर उनका स्वागत करना सोनू जायसवाल की एक फितरत होती थी। ताकि पुलिस प्रशासन उनके संबंधो को ध्यान में रखकर उनके अनुचित कार्यों में हस्तक्षेप न करे और इलाके के लोग उनकी दासता स्वीकार करें। सोनू अनाज की भी कालाबाजारी करते रहे और इनकी दबंगई के आगे कोई अपना मुंह नहीं खोल पाता था। किशुनगंज और मदाफरपुर सड़क पर मदाफरपुर बाजार से पहले किसान पेट्रोल पम्प के बगल मंगरौरा ब्लाक की पीडीएस की गोदाम है और इस गोदाम से जो अनाज की कालाबाजारी की जाती है, उसे पूरी तरह से सोनू जायसवाल ही हैंडिल करते रहे हैं। कई मार्केटिंग इंस्पेक्टर सोनू जायसवाल के चक्रब्यूह में फंसकर अपना लाखों रूपये का नुकसान भी उठा चुके हैं,परन्तु दो नम्बर के धंधे में शिकायत भी तो नहीं की जा सकती थी।

अन्ततोगत्वा मार्केटिंग इंस्पेक्टरों को अपना नुकसान उठाकर चुप रहने में ही उन्हें अपनी भलाई समझ में आई। सोनू जायसवाल के गांजा तस्करी की खबर से वो लोग बहुत खुश हैं, जो उनसे पीड़ित रहे। इलाके का दबंग विपिन कुमार उर्फ सोनू जायसवाल जो मुकदमा दर्ज होने और पुलिस अधीक्षक के दावे के बाद से फरार हो गया था और पुलिस को मैनेज करने के लिए हाथ पैर मारने लगा और दूसरी तरफ पुलिस भी समाज को दिखाने के लिए हाँथ-पांव मार रही थी। जब पुलिस की नीति और नियति में खोंट आना शुरू हुआ तो लोग कहने लगे कि इस प्रकरण में पुलिस अंत में फीलगुड करके मामले में सोनू जायसवाल को बचा देगी। लोगों का तर्क था कि यह तो आने वाला समय ही बताएगा कि सांसद और कैबिनेट मंत्री के चहेते के गिरेबान तक पुलिस के हांथ पहुचते हैं या फिर सत्ता के आगे पुलिस के हाथ कांप जाएंगे।

लगभग 55 लाख कीमत के अवैध गांजा के साथ 4 शातिर गांजा तस्कर गिरफ्तार कर प्रतापगढ़ की पुलिस जहाँ अपनी पीठ अपने हाथों से थपथपा रही है, वहीं उसके सामने सरगना सोनू जायसवाल के राजनीतिक रसूखों की चुनौती भी कम न थी। उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले में किस तरह से रसूखदारों से संबंध बनाकर गांजे की तस्करी का कार्य बड़े पैमाने पर किया जा रहा था। इसका खुलासा 30 मई, 2020 को हुआ।पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने अन्तर्राज्यीय गांजा तस्कर गिरोह का खुलासा किया, जिसमें उसका सरगना न केवल प्रधान निकला बल्कि प्रधान संघ का ब्लाक अध्यक्ष है और स्थानीय भाजपा सांसद संगमलाल गुप्ता और योगी सरकार के प्रभावशाली कैबिनेट मंत्री राजेंद्र प्रताप उर्फ मोती सिंह से भी नजदीकी बना रखा है।

तस्करों से बरामद हुआ था 2 क्विंटल, 85 किलोग्राम अवैध गांजा…

गिरफ्तार अभियुक्तों का विवरण…

सगीर उर्फ नन्हे पुत्र मो. नजीर निवासी चनुआडीह थाना कोहडौर जनपद प्रतापगढ। अब्दुल्ला पुत्र स्व. बदरूद्दी निवासी आममऊ ककरहा थाना अन्तू जनपद प्रतापगढ। रमेश जयसवाल पुत्र ओम प्रकाश निवासी संतापुर थाना अन्तू जनपद प्रतापगढ़। सोनू जयसवाल पुत्र गया प्रसाद निवासी सलवन थाना सलवन जनपद रायबरेली।

प्रकाश में आये अभियुक्तों का विवरण…

मुइनुद्दीन उर्फ बब्लू पुत्र जमालुद्दीन निवासी नेवा दानूपुर थाना लम्भुआ जनपद सुल्तानपुर। मनोज जयसवाल पुत्र सूर्यबली निवासी कालाकांकर थाना नवाबगंज जनपद प्रतापगढ़। सोनू जयसवाल उर्फ विपिन कुमार पुत्र अरविन्द उर्फ पप्पू निवासी मदाफरपुर थाना कोहडौर जनपद प्रतापगढ़। गुड्डू सिंह पुत्र राजेन्द्र सिंह निवासी गौरामाफी थाना सलवन जनपद प्रतापगढ़।

बरामदगी-

2 क्विंटल 85 किलोग्राम अवैध गांजा। एक अदद टाटा सफारी नं0 यूपी 94-H-4400, एक अदद इण्डिका सीएस नं0 यूपी 72-AA-9132 व 05 अदद मोबाइल फोन और अवैध गांजा बिक्री के 1,60,000/- रू0 नकद (एक लाख साठ हजार रूपये)।

गिरफ्तारी का स्थान…

दिनांक- 29 मई,2020, दरछुट पी एच सी अस्पताल के पास, थाना कन्धई जनपद प्रतापगढ़।

पुलिस टीम और गांजा तस्करी से जुड़े लोग…

पूछतांछ का विवरण…

पुलिस द्वारा की गयी पूछताछ मे गिरफ्तार अभियुक्तों ने बताया कि अभी आप के आने के कुछ देर पहले हमारे चार अन्य साथी, मनोज जयसवाल, मुइनुद्दीन उर्फ बब्लू, गुड्डू सिंह व सोनू जयसवाल उर्फ बिपिन कुमार जो अपना-अपना माल लेने आये थे, जिसमें से मनोज जयवाल ने अपना 25 किलो अवैध गांजा ले लिया और 1 लाख 60 हजार रूपये दिया जो आप लोगों के द्वारा बरामद कर लिया गया है। मुइनुद्दीन उर्फ बब्लू, गुड्डू सिंह व सोनू जायसवाल उर्फ बिपिन कुमार ने अपना-अपना अवैध गांजा लेने के लिये वाहन लाने की बात कह कर चले गये कि कुछ देर बाद आप लोग आ गये।

अभियुक्त नन्हे उर्फ सगीर ने बताया कि मै यह धन्धा गुड्डू सिंह व सोनू जायसवाल के साथ मिलकर 04-05 वर्ष से कर रहा हूं। वह लोग उडीसा, आन्ध्र प्रदेश से अवैध गांजा 05-07 हजार रूपये प्रतिकिलो की दर से मंगाकर यहां प्रतापगढ़, जौनपुर, रायबरेली, प्रयागराज, अमेठी, फतेहपुर, सुल्तानपुर आदि जनपदों में वही अवैध गांजा 15-20 हजार रूपये प्रतिकिलो की दर से बेंचते है। मेरे पास एक ट्रक है जो सम्मिलित रूप से लिया गया है, जिससे माल आन्ध्र प्रदेश व उडीसा से मंगाया जाता है, किसी महीने में एक बार व किसी महीने में 02 बार माल मंगाया जाता है। इस बार हमने यह माल (अवैध गांजा) मोमफली के बोरे बीच में रखकर मंगवाया था। आन्ध्र प्रदेश में मधू नामक व्यक्ति से गांजा लिया जाता है जिससे गुड्डू सिंह वार्ता करता है। आने के लिये रास्ता व गांजा कहां उतरेगा उसका स्थान हम तीनो लोग (नन्हे, गुड्डू सिंह व सोनू जायसवाल) मिलकर तय करते हैं।

प्रतापगढ़ में माल आने के उपरान्त कुछ लोगों को हम उनके बताये बताये पते पर अब्दुल्ला व मुइनूद्दीन उर्फ बब्लू के माध्यम से भी माल पहुंचाते हैं। रमेश जायसवाल व मनोज जायसवाल हमारे पुराने बड़े ग्राहक हैं, इनके माध्यम से हम लोग काफी माल सप्लाई करते हैं। मनोज जायसवाल का साला सोनू जयसवाल जो मेरे साथ पकड़ा गया है, यह रायबरेली का काम करता है। गिरफ्तार अभियुक्त अब्दुल्ला व मुइनुद्दीन उर्फ बब्लू जनपद प्रयागराज से वर्ष- 2016 में 130 किलोग्राम अवैध गांजा के साथ एसटीएफ द्वारा गिरफ्तार कर जेल भेजे जा चुके हैं, जो अभी कुछ महीने पहले ही छूटकर आये हैं। अभियुक्तों द्वारा बताये गये तथ्यों के आधार पर प्रकाश में आये अन्य अभियुक्तों की भी गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है।

पंजीकृत अभियोग…

मु.अ.स.183/20 धारा-8/20एनडीपीएस एक्ट बनाम उपरोक्त सभी अभियुक्त।

पुलिस टीम-

स्वाट प्रभारी निरीक्षक अजय कुमार सिंह, मुख्य आरक्षी तहसीलदार तिवारी, कांस्टेबल जागीर सिह, कांस्टेबल अरबिन्द दुबे, कांस्टेबल सत्यम यादव स्वाट टीम जनपद प्रतापगढ़ के प्रभारी निरीक्षक विपिन कुमार सिंह, उप निरीक्षक संतोष मिश्रा, उप निरीक्षक अनुज यादव, उप निरीक्षक संदीप कुमार, मुख्य आरक्षी कृष्णकान्त राय, आरक्षी विवेक यादव, आरक्षी कुलदीप, आरक्षी चालक विश्वास, महिला आरक्षी तनुजा व महिला आरक्षी दीपिका थाना कन्धई जनपद प्रतापगढ़।

एसपी ने सोनू उर्फ विपिन जायसवाल को बताया सरगना…

पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने इस गिरोह का सरगना सोनू उर्फ विपिन जायसवाल, प्रधान मदाफरपुर को सरगना बताया है। पुलिस अधीक्षक का कहना है कि सोनू ही इस धंधे में पैसा लगाता है और मुनाफा कमाता है। उधर तस्करों के पास से जो सफारी गाड़ी बरामद हुई है वह कानपुर आरटीओ में गुड्डू शर्मा के नाम से पंजीकृत है। वह गाड़ी इन लोगों के पास कैसे पहुंची। पुलिस इसकी भी पड़ताल कर रही है।

विपिन जायसवाल उर्फ सोनू ने वीडियो जारी कर खुद को बताया निर्दोष…

अधीक्षक अभिषेक सिंह द्वारा किये गये खुलासे के कुछ देर बाद ही विपिन जायसवाल उर्फ सोनू ने अपना वीडियो जारी कर खुद को निर्दोष बताया है। जबकि प्रतापगढ़ पुलिस का दावा है कि वह गांजा तस्कर सोनू जायसवाल को खोजने में दिन रात एक करके खोज रही है। वहीं गांजा तस्करी का सरगना सोनू जायसवाल अपना वीडियो जारी कर रहा है और कह रहा है कि राजनैतिक साजिश के तहत उसे इस मामले में फंसाया जा रहा है। जो लोग गिरफ्तार किये गये हैं, उनमें से कोई भी उनका न तो सगा है और न ही रिश्तेदार है।

औरंगाबाद में मॉब लिंचिंग का मामला; कार सवार तीन लोगों की हत्या को लेकर 6 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, वीडियो फुटेज से हुई पहचान     |     ट्रेन हादसा होते होते टला, प्लेटफॉर्म के पास मालगाड़ी के पहिए पटरी से उतरे, रेलवे टीम राहत-बचाव में जुटी     |     पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में बावरिया गिरोह के 8 सदस्य को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 6 हुए फरार     |     हत्यारा बना रूम पार्टनर; मामूली सी बात पर युवक की रस्सी से गला घोंटकर हत्या     |     हरणी झील में बड़ा हादसा; नाव पलटने से दो शिक्षकों और 13 छात्रों समेत 15 की हुई मौत      |     सरप्राइज देने के लिए पहाड़ी पर गर्लफ्रेंड को बुलाया, फिर चाकू से गला काटकर कर दी हत्या     |     बीमार ससुर से परेशान बहू ने उठाया खौफनाक कदम गला दबाकर की हत्या, आरोपी महिला को पुलिस ने किया गिरफ्तार     |     हत्यारों ने हैवानियत की हदें की पार,मां-बेटी की गला रेतकर बेरहमी से हत्या,शव के साथ हुई बर्बरता,शव देखकर कांप गए देखने वाले     |     अजब गजब:जीवित रहते हुए की अपनी तेरहवीं,तेरहवीं में शामिल हुआ पूरा गांव, 2 दिन बाद हुई मौत,हर कोई रह गया दंग     |     विषाक्त हुई पट्टी की सियासत में क्या अमृत घोल पायेंगे बीजेपी के चाणक्य     |     ब्रांडेड एक्‍सपायरी डेट आइट्म्‍स के गोरखधंधे के रैकेट का भंडाफोड़, 40 लाख का सामान जब्त     |     दोस्त की बीवी से एकतरफा प्यार में पड़े युवक ने खेला खूनी खेल, गला रेतकर उतारा मौत के घाट     |     गाजियाबाद में दिखी भाजपा पार्षद की गुंडागर्दी, पुलिस ने किया गिरफ्तार     |     मनीष सिसोदिया की जमानत याचिका खारिज, कोर्ट ने कहा- यह मामला सत्ता के गंभीर दुरुपयोग का है     |     सपा छोड़ भाजपा में शामिल हुए पूर्व विधायक धीरज ओझा के धुर विरोधी विनोद दुबे, डिप्टी सीएम ने दिलाई सदस्यता     |     रेमंड शोरूम में लगी भीषण आग पर पाया काबू, एक शख्‍स की मौत, ब‍िल्‍ड‍िंग माल‍िक पर केस     |     स्‍वाति मालीवाल मामले में एलजी ने केजरीवाल पर साधा निशाना, आप ने बताया भाजपा की नई साजिश     |     बाहुबली पूर्व विधायक चंद्रभद्र सिंह ने ज्वाइन की सपा: 2019 के लोकसभा में दी थी मेनका गांधी को कड़ी टक्कर, भाजपा की मुश्किलें अब और बढ़ी     |     दो भाई घर में सगी बहन का एक साल से कर रहे थे बलात्कार, पीड़िता के गर्भवती होने पर हुआ खुलासा     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9721975000