समाजवादी पार्टी में नाराज चचा आजम खान की अगुवाई में होगी मुस्लिम विधायकों की लामबंदी, सपा की लंका लगाने में चाचा शिवपाल भी देंगे आजम खान का साथ

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में जहां एक तरफ प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुखिया शिवपाल सिंह यादव और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव के बीच युद्ध छिड़ा हुआ है तो वहीं दूसरी ओर सीतापुर जेल बंद आजम खान अब समाजवादी पार्टी के लिए बड़ी मुश्किलें खड़ी करने जा रहे हैं। यूपी में हाल ही में सम्पन्न हुए विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के सबसे अधिक विधायक जीते थे। समाजवादी पार्टी और उसके सहयोगियों को मिलाकर 34 मुस्लिम विधायक जीतकर सदन में पहुंचे थे, लेकिन सूत्रों से खबर हैं कि मुस्लिम विधायकों में पार्टी मुखिया अखिलेश यादव के प्रति नाराजगी दिखाई दे रही है और मुस्लिम विधायक एकजुट होकर आजम की अगुवाई में नया मोर्चा बना सकते हैं।

अखिलेश से क्यों नाराज है,आजम खान का खेमा…

उत्तर प्रदेश की राजनीति में आजम खान एक बड़ा नाम है। आजम खान इस समय सीतापुर जेल में बंद हैं। सपा मुखिया अखिलेश यादव आजम खान के समर्थकों के निशाने पर हैं। आजम खान के समर्थकों का आरोप है कि जब पार्टी का मुखिया अपने खास नेता के साथ नहीं खड़ा रह सकता तो फिर वो आम कार्यकर्ताओं के साथ कैसे खड़ा रह सकता है। फिलहाल सपा मुखिया अखिलेश यादव ने आजम खान के समर्थकों को और शिवपाल सिंह यादव को करारा जवाब देते हुए कहा कि पार्टी हमेशा आजम साहब के साथ खड़ी है। राजनीतिक पंडितों की माने तो अब सपा मुखिया अखिलेश यादव की राजनीति बदल चुकी है और वो अब 80 और 20 के समीकरण में केवल 20 फीसदी वर्ग के साथ खड़े होना नहीं दिखना चाहते, जैसा कि उनके पिता मुलायम सिंह किया करते थे।

क्या मुस्लिम विधायक बनाएंगे अपना राजनीतिक दल…???

उत्तर प्रदेश 2022 विधानसभा चुनाव में 34 मुस्लिम विधायक चुन कर आये हैं। पिछली बार इन मुस्लिम विधायकों संख्या 24 थी। 21 विधायक पश्चिमी यूपी से, छह मध्य यूपी से और सात पूर्वांचल से जीते हैं। 34 में से 31 विधायक सपा के हैं। दो उसकी सहयोगी दल राष्ट्रीय लोकदल और एक सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के है, जो सपा गठबंधन का हिस्सा है। अब सवाल ये उठ रहा है कि क्या ये 34 विधायक एकजुट होकर मुस्लिमों के हक की राजनीति कर सकते हैं, क्या इसके लिए वो आजम खान को अपना नेता मानकर चलेंगे। कहीं न कहीं ये बात उठ रही है। लेकिन मुस्लिमों का कोई भी नेता कभी मुसलमान नहीं बना है। कभी मुलायम सिंह यादव नेता बने तो कभी मायावती।ओवैसी पर भाजपा का होने का ठप्पा लगा है। कहीं न कहीं यह बात उठ रही है कि इन्हें इकठ्ठा होकर अपनी आवाज़ बुलंद करनी चाहिए। उसकी अगुवाई कौन करेगा, ये एक बड़ा सवाल है।

मुस्लिमों ने आजम को कभी नहीं माना,नेता…

राजनीतिक पंडितों की माने तो भाजपा में न तो मुसलमानों का मन मिलेगा और न बात मिलेगी। इतनी तादाद में भाजपा की ओर मुसलमान न जा पाएं, हो सकता है कि ये लोग कांग्रेस का रुख करें और ऐसा नहीं तो वो अपनी पार्टी भी बना सकते हैं। किसी दल में जाते हैं तो दूसरी बात है, लेकिन अगर पार्टी बनाते हैं तो वो बड़ा परिवर्तन होगा। क्या आजम खान के पक्ष में मुस्लिमों की गोलबंदी हो सकती है। आजम खान की 35-36 सालों की जो राजनीति रही है, उसमें मुस्लिमों ने आजम खान को अपने नेता के रूप में कभी नहीं स्वीकारा है। आजम खान सपा का मुस्लिम चेहरा तो थे, लेकिन मुस्लिम नेता कभी नहीं थे। आजम खान की जो उम्र है, जो उनके मुकदमे हैं, उसकी वजह से मुस्लिम उनका नेतृत्व स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं है।

सपा के विधायक 34 इस बार पहुंचे हैं,विधासभा…

यूपी विधानसभा में अब तक 2012-2017 के कार्यकाल में सबसे ज्यादा मुस्लिम विधायक 69 रहे हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक इनमें से 45 विधायक उस वक्त समाजवादी पार्टी के थे। वर्ष-1991 में राज्य विधान सभा ने कथित तौर पर सबसे कम आंकड़ा देखा, जब केवल 17 मुस्लिम विधायक चुने गए थे। रिपोर्टों के अनुसार, वर्ष- 2022 के राज्य चुनावों में मायावती के नेतृत्व वाली बहुजन समाज पार्टी ने 88 मुस्लिम नेताओं को टिकट दिया था, जबकि समाजवादी पार्टी ने 64 मुस्लिम उम्मीदवारों को मैदान में उतारा था। सांसद असदुद्दीन ओवैसी की ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन ने 60 से अधिक सीटों पर मुस्लिम उम्मीदवार खड़े किए थे। परन्तु सपा को छोड़ दें तो अन्य दलों के उम्मीदवारों की जमानत तक नहीं बाख पाई। 

औरंगाबाद में मॉब लिंचिंग का मामला; कार सवार तीन लोगों की हत्या को लेकर 6 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, वीडियो फुटेज से हुई पहचान     |     ट्रेन हादसा होते होते टला, प्लेटफॉर्म के पास मालगाड़ी के पहिए पटरी से उतरे, रेलवे टीम राहत-बचाव में जुटी     |     पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में बावरिया गिरोह के 8 सदस्य को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 6 हुए फरार     |     हत्यारा बना रूम पार्टनर; मामूली सी बात पर युवक की रस्सी से गला घोंटकर हत्या     |     हरणी झील में बड़ा हादसा; नाव पलटने से दो शिक्षकों और 13 छात्रों समेत 15 की हुई मौत      |     सरप्राइज देने के लिए पहाड़ी पर गर्लफ्रेंड को बुलाया, फिर चाकू से गला काटकर कर दी हत्या     |     बीमार ससुर से परेशान बहू ने उठाया खौफनाक कदम गला दबाकर की हत्या, आरोपी महिला को पुलिस ने किया गिरफ्तार     |     हत्यारों ने हैवानियत की हदें की पार,मां-बेटी की गला रेतकर बेरहमी से हत्या,शव के साथ हुई बर्बरता,शव देखकर कांप गए देखने वाले     |     अजब गजब:जीवित रहते हुए की अपनी तेरहवीं,तेरहवीं में शामिल हुआ पूरा गांव, 2 दिन बाद हुई मौत,हर कोई रह गया दंग     |     राम मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा कराने वाले मुख्य आचार्य लक्ष्मीकांत दीक्षित का निधन, सीएम योगी ने जताया दुख     |     सुभासपा मुखिया ओपी राजभर का बड़ा एक्शन,भंग की पार्टी की सभी कार्यकारिणी     |     सिस्टम से हारी,फिरती रही मारी-मारी, सुसाइड नोट में संजना ने लिखा दर्द-मैंने बहुत मेहनत की, लेकिन अफसर झूठ बोलते रहे     |     प्रतापगढ़ के एसपी ने तीन निरीक्षकों व पांच उप निरीक्षकों का किया तवादला, पर अपराध पर नहीं लगा पा रहे हैं, अंकुश     |     पहले साथी ने फोन करके बुलाया फिर साथियों संग मुंह में कपड़ा ठूंसा और आँख पर पट्टी बांधकर उठा ले गए और सुनसान स्थान पर मारकर किया अधमरा     |     रेणुकास्वामी को दिया गया बिजली का झटका, अभिनेता दर्शन ने सबूतों को नष्ट करने के लिए दोस्त से लिए थे 40 लाख रुपये     |     युवती को धमकाने और छेड़छाड़ में मुख्य आरोपी व उसके चाचा को किया गया गिरफ्तार     |     रामनगरी अयोध्या और तीर्थराज प्रयाग में बनेगा अतिविशिष्ट राज्य अतिथि गृह, सीएम योगी ने देखी डिजाइन     |     नरायनापुर गांव में लगी भीषण आग; 64 झोपड़िया जलकर हुई राख, 21 मवेशी जिंदा जले     |     सीएमओ कार्यालय का बाबू 40 हजार की रिश्वत लेते हुए एंटी करप्शन की टीम ने किया गिरफ्तार      |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9721975000