छेड़खानी के विरोध पर छात्र की हत्या: लाठी-डंडों से लैस हजारों लोग सड़क पर बैठे, बोले-प्रधान के घर पर चलवाया जाए बुलडोजर

प्रयागराज के खीरी में छात्र की हत्या के दूसरे दिन भी परिजनों-ग्रामीणों का आक्रोश कम नहीं हुआ। लाठी-डंडों से लैस हजारों ग्रामीण खीरी बाजार चौराहे को चारों ओर से जाम कर सड़क पर बैठे रहे। इनमें बड़ी संख्या में महिलाएं व बच्चे भी शामिल रहे। वह मांग कर रहे थे कि जिस तरह से अपराधियों को योगीराज में सजा दी जाती है, उसी तरह प्रधान के घर पर भी बुलडोजर चलवाया जाए, तब ही इंसाफ होगा। समझाने की कोशिश करने पर पुलिसकर्मियों से कई बार उनकी तीखी नोंकझोंक भी हुई। भोर में साढ़े तीन बजे के करीब पुलिस आयुक्त व डीएम खीरी बाजार पर पहुंचे तो लगा कि अब मामला शांत हो जाएगा। अफसरों ने ग्रामीणों से बातचीत की और उन्हें आश्वासन दिया कि कुछ ही घंटों में आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। साथ ही अपील की कि वह अपने-अपने घरों को लौट जाएं। कुछ लोगों को तो उनकी बात समझ में आई और वे शांत हो गए, लेकिन बड़ी संख्या ऐसे लोगों की थी जो शव सौंपे जाने तक हटने को तैयार नहीं थे। इसके बाद दोनों अफसर वापस थाने चले गए।

प्रदर्शनकारी ग्रामीणों ने दावा किया कि अफसरों ने भोर में हुई वार्ता के दौरान सुबह 11 बजे तक शव परिजनों को सौंपे जाने की बात कही थी। हालांकि, शव नहीं आया और एक बार फिर से ग्रामीणों का जुटना शुरू हो गया। इसके बाद ग्रामीण थाने पहुंच गए और घेराव कर दिया। पुलिसकर्मियों ने उन्हें हटाना चाहा तो वह उग्र हो उठे और पथराव कर दिया। इसके साथ ही खीरी-कोहड़ार मार्ग से थाने की ओर जाने वाले मार्ग पर खड़ी सरकारी एंबुलेंस में भी तोड़फोड़ कर दी। इस पर पुलिसकर्मियों ने किसी तरह समझाकर उन्हें वहां से हटाया। हालांकि, वहां से हटने के बाद लोगों ने एक बार फिर खीरी बाजार पहुंचकर जाम लगा दिया। फिर देर शाम तक यही स्थिति बनी रही। जाम लगाए लोग मांग कर रहे थे कि आरोपी प्रधान के घर पर बुलडोजर चलवाया जाए। जब तक आरोपी के घर पर बुलडोजर नहीं चलेगा और परिजनों को शव नहीं सौंपा जाएगा, वह नहीं हटेंगे। साथ ही उन्होंने ऐसा ही किया। देर शाम तक वह चौराहा जाम किए बैठे रहे। ग्रामीणों के तेवर देखकर पुलिसकर्मी भी बैकफुट पर रहे और मान-मनौव्वल करते रहे।

महिलाएं ज्यादा आक्रोशित, सुनाती रहीं खरीखोटी…

प्रदर्शनकारियों में बड़ी संख्या में महिलाएं शामिल थीं और वह लाठी-डंडों से लैस थीं। आक्रोश तो सभी प्रदर्शनकारियों में था, लेकिन महिलाएं कुछ ज्यादा ही गुस्से में दिखीं। उनके सामने जो भी पुलिसकर्मी पड़ता वह उसे खरीखोटी सुनाने लगतीं। उनका आरोप था कि पुलिस अफसरों के कहने के बावजूद शव घरवालों को नहीं सौंपा गया, यह सरासर अन्याय है। उल्टा इंसाफ मांगने पर परिवार व ग्रामीणों से ही सख्ती कर रही है। नाइंसाफी बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

मुआवजा नहीं, बेटा लौटाइए…

एक तरफ खीरी चौराहे पर जाम चल रहा था तो करीब 30-35 महिलाएं थाने के गेट के बाहर जमा थीं। वह भीतर जाना चाहती थीं लेकिन गेट पर तैनात महिला थाना की एसओ पूनम शुक्ला समेत अन्य पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोके रखा था। इस पर महिलाएं रह-रहकर नारेबाजी भी कर रही थीं। इसी दौरान एक पुलिसकर्मी ने कहा कि गिरफ्तारी की मांग पूरी होने के साथ ही मुआवजे का भी आश्वासन दिया गया है। इस पर एक प्रदर्शनकारी महिला ने उन्हें जवाब दिया कि मुआवजा नहीं बल्कि मां को उसका बेटा लौटाइए तब मानेंगे कि पुलिस प्रशासन ने इंसाफ किया।

घरवालों के आने से पहले क्यों भेजा शव…

प्रदर्शनकारी स्थानीय पुलिस को लेकर भी बेहद आक्रोशित दिखे। उनका कहना था कि पुलिसवालों ने परिजनों के आने से पहले ही शव क्यों हटाया। सवाल उठाया कि पुलिस को आखिर इतनी जल्दी क्या थी कि उसने परिजनों का भी इंतजार नहीं किया। हालांकि इस मामले में पुलिस की ओर से पहले ही बताया गया कि सूचना पर जब वह मौके पर पहुंचे तो छात्र की सांस चल रही थी। ऐेसे में जितनी जल्दी हो सका, उसे अस्पताल भेजा गया।

सिर में लगी चोट बनी मौत का कारण…

मृतक के शव का पोस्टमार्टम शाम पांच बजे के करीब हुआ। तनावपूर्ण माहौल के बीच दोपहर में पंचानामे की कार्रवाई पूरी कर पुलिस मृतक के भाई पुरुषोत्तम को लेकर मोर्चरी पहुंची और इसके बाद पोस्टमार्टम शुरू हुआ। पोस्टमार्टम में मृतक के सिर के पिछले हिस्से में चाेट का निशान मिला है और माना जा रहा है कि यही चोट उसकी मौत का कारण बनी। तीन डॉक्टरों के पैनल ने वीडियोग्राफी के बीच पोस्टमार्टम किया।

बेटे व दो भांजों समेत गिरफ्तार हुआ प्रधान…

पुलिस ने नामजद आरोपी तुर्कपुरवा ग्राम प्रधान मो. यूसुफ समेत पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पांचों गैरसमुदाय के हैं। इनमें दूसरा नामजद आरोपी मोनिस व तीन बाल अपचारी शामिल हैं। बाल अपचारियों में एक प्रधान का बेटा जबकि दो उसके भांजे हैं। प्रधान का बेटा भी उसी स्कूल में पढ़ता है, जहां मृतक सत्यम पढ़ता था।

पुलिस आयुक्त ने रात भर किया कैंप, दूसरे दिन भी डटे रहे…

मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस आयुक्त रमित शर्मा समेत तमाम अफसरों ने रात भर खीरी थाने में ही कैंप किया। उधर, डीएम भी रात में ही पहुंचे थे, लेकिन वह कुछ घंटों बाद वापस लौट गए। मंगलवार सुबह एक बार फिर वह थाने पहुंचे और इसके बाद सभी अफसर देर शाम तक मौके पर ही डटे रहे।

औरंगाबाद में मॉब लिंचिंग का मामला; कार सवार तीन लोगों की हत्या को लेकर 6 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, वीडियो फुटेज से हुई पहचान     |     ट्रेन हादसा होते होते टला, प्लेटफॉर्म के पास मालगाड़ी के पहिए पटरी से उतरे, रेलवे टीम राहत-बचाव में जुटी     |     पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में बावरिया गिरोह के 8 सदस्य को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 6 हुए फरार     |     हत्यारा बना रूम पार्टनर; मामूली सी बात पर युवक की रस्सी से गला घोंटकर हत्या     |     हरणी झील में बड़ा हादसा; नाव पलटने से दो शिक्षकों और 13 छात्रों समेत 15 की हुई मौत      |     सरप्राइज देने के लिए पहाड़ी पर गर्लफ्रेंड को बुलाया, फिर चाकू से गला काटकर कर दी हत्या     |     बीमार ससुर से परेशान बहू ने उठाया खौफनाक कदम गला दबाकर की हत्या, आरोपी महिला को पुलिस ने किया गिरफ्तार     |     हत्यारों ने हैवानियत की हदें की पार,मां-बेटी की गला रेतकर बेरहमी से हत्या,शव के साथ हुई बर्बरता,शव देखकर कांप गए देखने वाले     |     अजब गजब:जीवित रहते हुए की अपनी तेरहवीं,तेरहवीं में शामिल हुआ पूरा गांव, 2 दिन बाद हुई मौत,हर कोई रह गया दंग     |     प्रेमी संग पांच बच्चों की मां हुई फरार, पति ने बच्चों को घर में बंद कर लगाई आग, पुलिस ने मासूमों की बचाई जान     |     चंद्रशेखर के एक फैसले से सपा-कांग्रेस और बसपा की बढ़ी टेंशन, यूपी उपचुनाव में कहीं बिगड़ न जाए इंडिया गठबंधन का खेल     |     युवक ने मॉडल बनाने का लालच देकर युवती से किया दुष्कर्म, अश्लील वीडियो बनाकर वायरल करने की दे रहा धमकी     |     बदमाश और पुलिस टीम से हुई मुठभेड़, मुठभेड़ में एक के पैर में लगी गोली, 5 साथी हुए फरार      |     बाइक सवार युवक की धारदार हथियार से की गई हत्या, निकाली आंख-खेत में मिला शव      |     सड़क किनारे बनी झोपड़ी पर पलटा मोरंग लदा डंफर, गर्भवती पत्नी का फटा पेट, परिवार के चार लोगों की मौके पर दर्दनाक मौत     |     प्रतापगढ़ की स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी को विजलेंस टीम ने 23 हज़ार 500 रुपये घूस लेते किया गिरफ्तार, एंटी करप्शन टीम ने भेजा जेल     |     भाजपा में कोई नहीं ले रहा था हार की जिम्मेदारी, राज्य मंत्री सोनम किन्नर ने दिया इस्तीफा     |     सिपाही के खुदकुशी मामले में प्रेमिका और उसकी सहेली को किया गिरफ्तार, ब्लैकमेल कर हड़पे थे 6 लाख रुपये     |     प्रतापगढ़ के आरटीओ दफ्तर में पड़े छापे के दौरान दलाली करने वाले 11 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9721975000