विज्ञापन
विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें – 9721975000 *

उमेश पाल हत्याकांड जेल का एक और पुलिसकर्मी गिरफ्तार, माफिया डॉन अतीक के गुर्गों की अशरफ से मुलाकात करवाने का आरोप

बरेली। प्रयागराज में हुए उमेश पाल हत्याकांड की जांच कर रही पुलिस को एक और बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने सोमवार को पीलीभीत जेल में तैनात सिपाही मनोज गौड़ को गिरफ्तार किया है। मनोज पर आरोप है कि वह नियमों की धज्जियां हुए बिना आईडी प्रूफ माफिया डॉन अतीक अहमद के भाई अशरफ से अतीक गैंग के गुर्गों की मुलाकात करवाता था। बता दें कि इस मामले में अभी तक दो पुलिसकर्मी समेत पांच लोगों को गिरफ्तारी हो चुकी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार बीते एक महीने से मनोज गौड़, जिला जेल पीलीभीत में तैनात था। पुलिस ने बयान देने के बहाने बुलाकर गिरफ्तार कर लिया। मनोज गौड़ पर आरोप है कि उसने सिपाही शिवहरि अवस्थी के साथ मिलकर अशरफ के गुर्गों को नियमों की धज्जियां उड़ाकर मिलवाया था। मामले की जांच कर रही पुलिस टीम अब अशरफ के गुर्गो की मुलाकात के दौरान तैनात जेलकर्मियों का डाटा खंगाल रही है, जांच में मनोज के खिलाफ एस‌आईटी को पर्याप्त सबूत मिले थे। जिसके बाद बयान के बहाने मनोज को बरेली बुलाकर एसआइटी ने गिरफ्तार किया है। जेल मुख्यालय ने 11 फरवरी से 24 फरवरी के बीच की फुटेज बरेली पुलिस को सौंपी है।

पुलिस की पहुंच से आरोपी दूर…

बहुजन समाज पार्टी के विधायक राजू पाल हत्याकांड के मुख्य गवाह उमेश पाल उर्फ कृष्ण कुमार हत्याकांड हुए दो 15 दिन से भी अधिक हो चुका है।मगर उमेश पाल हत्याकांड से जुड़े पांच आरोपी अभी भी पुलिस की पहुंच से दूर हैं। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर चिह्नित माफिया डॉन पूर्व सांसद अतीक अहमद के बेटे असद समेत पांच शूटर, बमबाज गुड्डू मुस्लिम पर ढाई-ढाई लाख रुपये का इनाम भी रखा गया है।फरार शूटरों को गिरफ्तारी करने में पुलिस और एसटीएफ की टीम नाकाम साबित हो रही है।

नेपाल में किसी सुरक्षित जगह छिपे होने की आशंका…

उमेश पाल हत्याकांड हुए 15 दिन से अधिक हो चुका है।अब कहा जा रहा है कि माफिया डॉन अतीक अहमद के बेटे असद समेत बमबाज गुड्डू मुस्लिम, गुलाम और अरमान बहुत ही सुरक्षित जगह पहुंच चुके हैं।साबिर के बारे में तो अभी प्रयागराज के आसपास ही होने की आशंका है। मगर असद के बारे में अनुमान है कि वह बिहार होते हुए नेपाल में किसी सुरक्षित जगह पहुंच गया है।जहां से असद के बारे में पता लगाना कठिन है।

साबरमती में छिपे होने की आशंका…

अहमदाबाद के साबरमती में भी माफिया डॉन अतीक अहमद के कुछ गुर्गों के छिपे होने की आशंका जताई गई है। साबरमती जेल में अतीक से भी पुलिस टीम पूछताछ कर सकती है। एसटीएफ ने गुजरात पुलिस से भी शूटरों की गिरफ्तारी के लिए मदद मांगी है। एसटीएफ सूत्रों के मुताबिक साबरमती जेल में माफिया डॉन अतीक को निरुद्ध किए जाने के बाद अतीक का खास गुर्गा आसिफ उर्फ मल्ली अपने कई साथियों के साथ गुजरात पहुंचा था।आसिफ साबरमती जेल के पास ही एक अपार्टमेंट में किराए पर फ्लैट लेकर रहता था। वहां कई गुर्गो का आना-जाना होता था।

नीतीश-तेजस्वी को महंगी पड़ेगी छुट्टी की ‘घुट्टी’, BJP के सियासी जाल के शिकार हुए चाचा-भतीजा, जानें पूरा मामला     |     शादी का दबाव बनाने पर प्रेमी ने प्रेमिका की दुपट्टे से गला घोंटकर की हत्या, आरोपी प्रेमी को पुलिस ने किया गिरफ्तार     |     बॉर्डर पर तैनात था तो दुश्मन कुछ नहीं बिगाड़ पाए, पटवारी बनते ही बेटे को माफिया ने मार डाला, कहते हुए बिलख पड़े पिता     |     प्रतापगढ़ पृथ्वीगंज चौकी के सिपाही मनीष गौतम ने अपने कमरे में पंखे से फांसी लगाकर दी जान     |     जिहादी हमले पर गरम हुई सियासत,बेबस पिता के पास नहीं बचे इलाज के लिए पैसे, लगाई योगी सरकार से गुहार     |     16 दिन बाद उत्तरकाशी से आई अच्छी खबर,चमक उठी मां की आंखें,बेटे के घर आने का इंतजार     |     बस कंडक्टर पर चापड़ से जानलेवा हमला करने का मामला:लारेब हाशमी के घर पर चल सकता है बुलडोजर,जल्द जारी कर सकता है पीडीए नोटिस     |     बरेली में पांच महीने में नौ महिलाओं की हत्या,हत्या करने का तरीका सेम,साड़ी से गला घोंटकर कौन कर रहा है हत्याएं     |     इश्क में रोड़ा बने मामा की सिरफिरे आशिक ने गला रेतकर की हत्या, पुलिस ने किया खुलासा     |     खालिस्तानी आतंकी अर्शदीप के पकड़े गए दोनों शार्प शूटर्स, सिंगर एली मंगत की हत्या करने आए थे दिल्ली, जानिए कैसे पुलिस ने दबोचा     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9721975000