लोकसभा चुनाव 2024 के सातवें चरण में 8 राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों में 1 जून को मतदाता ईवीएम की बटन दबाकर 904 उम्मीदवार की किस्मत का करेंगे, फैसला

सांतवें चरण के लिए 8 राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों के 57 संसदीय क्षेत्रों के लिए उम्मीदवारों द्वारा 2105 नामांकन पत्र किए गए, दाखिल

साल- 2019 से साल- 2024 का चुनाव पूरी तरह से बदला हुआ है। 27 साल से पंजाब में बीजेपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ने वाली अकाली दल इस बार अलग होकर चुनाव लड़ रही है। लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में 1 जून को उत्तर प्रदेश की 13 सीटों पर मतदान होना है। बिहार से लेकर यूपी तक में सियासी समीकरण बदले हुए हैं, तो बंगाल में ममता बनर्जी को अपनी सीटें बचाए रखने की चुनौती है।

लोकसभा का आखिरी चरण तय करेगा सत्ता की कुर्सी, जानें 8 राज्यों की 57 सीटों पर किसका पलड़ा भारी

लोकसभा चुनाव अब फाइनल और अंतिम दौर में पहुंच चुका है। लोकसभा चुनाव के सातवें चरण में आठ राज्यों की 57 सीटों पर एक जून को वोटिंग है। इस फेज में 904 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर लगी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वाराणसी सीट पर परीक्षा होनी है। इसके अलावा पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के सियासी वारिस माने जाने वाले अभिषेक बनर्जी की डायमंड हार्बर और लालू प्रसाद यादव की बेटी मीसा भारती की पाटलिपुत्र सीट पर इम्तिहान होगा।लोकसभा चुनाव के सातवेंव अंतिम चरण में 57 सीटों पर चुनाव है। इसमें बिहार, चंडीगढ़, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, ओडिशा, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल की सीटों पर चुनाव होगा।

उत्तर प्रदेश की 13 सीटों पर 144 प्रत्याशी मैदान में हैं। बिहार की आठ सीटों पर 134 उम्मीदवार एक दूसरे के सामने ताल ठोक रहे हैं। ओडिशा की 6 सीटों पर 66, झारखंड की 3 सीटों के लिए 52, हिमाचल प्रदेश की 4 सीटों के लिए 37, पश्चिम बंगाल की 9 सीटों के लिए 124 और चंडीगढ़ की एक सीट पर 19 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। देखना होगा कि 1 जून को होने वाले चुनाव में मतदाता किसे अपनी पहली पसंद बनाता है और किसे नापसंद करता है। चुनाव प्रचार में अभी दो दिन शेष हैं। उम्मीदवार और उनकी पार्टी के स्टार प्रचारक जी जान से चुनावी जीत के लिए दिनरात एक कर मतदाताओं से अपने पक्ष में वोट देने की अपील कर रहे हैं।

सातवें चरण में सियासी समीकरण साधने में जुटे हैं, पार्टिया 

सातवें चरण की जिन 57 सीटों पर एक जून को चुनाव है। साल- 2019 में उन सीटों पर बीजेपी का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा।  पिछले चुनाव में इन 57 सीटों में से बीजेपी ने 25 सीटें जीती थीं, तो कांग्रेस को सिर्फ 8 सीटों से संतोष करना पड़ा था। इसके अलावा जेडीयू को 3 सीटें मिली थीं, तो अपना दल (एस) दो सीटें, शिरोमणि अकाली दल 2 सीटें, आम आदमी पार्टी एक, बीजेडी 2, जेएमएम एक सीट और टीएमसी 9 सीटें जीतने में सफल रही थी। बीजेपी नेतृत्व वाला एनडीए 32 सीटें जीतने में कामयाब रहा, जबकि यूपीए को 9 सीटें ही मिलीं और अन्य दलों को 14 सीटें मिली थीं।

साल- 2019 से साल- 2024 का चुनाव पूरी तरह से बदला हुआ है। 27 साल से पंजाब में बीजेपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ने वाली अकाली दल इस बार अलग होकर चुनाव लड़ रही है। इतना ही नहीं पंजाब में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी भी अलग-अलग चुनावी मैदान में है। पंजाब की सत्ता में आम आदमी पार्टी है, जिसके चलते उसे इस बार अपनी सीटें बढ़ने की उम्मीद दिख रही है। इसी तरह हिमाचल की सत्ता में इस बार कांग्रेस काबिज है, जिसके चलते बीजेपी के लिए क्लीन स्वीप करना आसान नहीं है। बिहार से लेकर यूपी तक में सियासी समीकरण बदले हुए हैं, तो बंगाल में ममता बनर्जी को अपनी सीटें बचाए रखने की चुनौती है।

यूपी की 13 सीटों पर फंसी हुई है, 144 प्रत्याशियों की सांसे

लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में 1 जून को उत्तर प्रदेश की 13 सीटों पर मतदान होना है। महाराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, बांसगांव, घोसी, सलेमपुर, बलिया, गाजीपुर, चंदौली, वाराणसी, मिर्जापुर और रॉबर्ट्सगंज लोकसभा सीट शामिल हैं। ये सभी 13 सीटें पूर्वांचल क्षेत्र की हैं। साल- 2019 के चुनाव में बीजेपी 13 में से 9 सीटें जीतने में कामयाब रही थी, जबकि दो सीटें उसके सहयोगी अपना दल (एस) ने जीती थीं और दो सीटें बसपा को मिली थीं। बसपा ने गाजीपुर और घोसी सीटें जीती थीं, तो अपना दल (एस) ने मिर्जापुर और राबर्ट्सगंज जीती थी।

इस बार बीजेपी अंतिम चरण की 13 में से 10 सीट पर चुनाव लड़ रही है और तीन सीट पर सहयोगी दल हैं। अपना दल (एस) दो सीट पर, तो ओम प्रकाश राजभर की पार्टी एक सीट पर चुनाव लड़ रही है। वहीं, इंडिया गठबंधन की तरफ से सपा 9 सीट और कांग्रेस 4 सीट पर चुनावी किस्मत आजमा रही है। बसपा सभी 13 सीट पर चुनाव लड़ रही है।  इस चरण का चुनाव पूरी तरह से जातीय बिसात पर होता नजर आ रहा है, जिसमें ओबीसी वोटों के लिए भी सियासी खींचतान है। इसके अलावा बसपा के दलित वोट बैंक को भी साधने की कवायद बीजेपी और सपा दोनों ही कर रही हैं। पूर्वांचल के जातीय समीकरण को साधने में जो सफल रहेगा, उसके लिए सियासी राह आसान हो सकती है।

उत्तर प्रदेश में कई दिग्गजों की किस्मत दांव पर

यूपी में सातवें चरण की हाई प्रोफाइल सीटों की बात करें तो इनमें पीएम मोदी की वाराणसी, चंदौली में डॉ महेंद्र नाथ पाण्डेय, अभिनेता सांसद रवि किशन की गोरखपुर, बलिया में नीरज शेखर तो मिर्जापुर में अपना दल एस की राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल की सीट शामिल हैं। आपको बता दें कि इन 13 सीटों में से 11 पर भाजपा गठबंधन को साल 2019 में जीत मिली थी। गाजीपुर और घोसी सीट पर विपक्षी दलों ने कब्जा जमाया था। इसके अलावा बलिया सीट पर भी इस बार कांटे की टक्कर मानी जा रही है।

औरंगाबाद में मॉब लिंचिंग का मामला; कार सवार तीन लोगों की हत्या को लेकर 6 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, वीडियो फुटेज से हुई पहचान     |     ट्रेन हादसा होते होते टला, प्लेटफॉर्म के पास मालगाड़ी के पहिए पटरी से उतरे, रेलवे टीम राहत-बचाव में जुटी     |     पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में बावरिया गिरोह के 8 सदस्य को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 6 हुए फरार     |     हत्यारा बना रूम पार्टनर; मामूली सी बात पर युवक की रस्सी से गला घोंटकर हत्या     |     हरणी झील में बड़ा हादसा; नाव पलटने से दो शिक्षकों और 13 छात्रों समेत 15 की हुई मौत      |     सरप्राइज देने के लिए पहाड़ी पर गर्लफ्रेंड को बुलाया, फिर चाकू से गला काटकर कर दी हत्या     |     बीमार ससुर से परेशान बहू ने उठाया खौफनाक कदम गला दबाकर की हत्या, आरोपी महिला को पुलिस ने किया गिरफ्तार     |     हत्यारों ने हैवानियत की हदें की पार,मां-बेटी की गला रेतकर बेरहमी से हत्या,शव के साथ हुई बर्बरता,शव देखकर कांप गए देखने वाले     |     अजब गजब:जीवित रहते हुए की अपनी तेरहवीं,तेरहवीं में शामिल हुआ पूरा गांव, 2 दिन बाद हुई मौत,हर कोई रह गया दंग     |     भाभी से शादी के लिए दो भाइयों ने छोटे भाई की सीने में गोली मारकर की हत्या     |     नगरपालिका अध्यक्ष रहे हरि प्रताप सिंह की राजनीतिक तेरहवीं के बाद इकलौते बेटे और भाई ने एमएलसी साले के सहारे सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ से की मुलाकात     |     BJP, JDU या TDP किस पार्टी का होगा लोकसभा स्पीकर; जानिए केसी त्यागी ने क्या कहा     |     पुरानी रंजिश में जमकर हुआ विवाद, नाराज पक्ष ने युवक के सिर में मारी गोली हुई मौत     |     प्रेमिका के घरवालों ने प्रेमी को बुलाया, पहले पिलाई कोल्ड ड्रिंक फिर बरसाए लाठी-डंडे उतारा मौत के घाट     |     मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का आवास और अंदर 10 मंत्री, मीटिंग में सीनियर अफसर भी रहे मौजूद; सबको मिल गया ‘ऑर्डर’     |     प्रतापगढ़ थाना कोहड़ौर में सर्राफा व्यवसायी से सोने के आभूषण लूटकर भाग रहे अंर्तजनपदीय बदमाशों से पुलिस मुठभेड़ में  3 बदमाशों के पैर में लगी गोली     |     प्रतापगढ़ लोकसभा चुनाव हराने के बाद बड़ी प्रसन्न मुद्रा में सूबे के मुखिया से मिलते प्रतापगढ़ विधायक राजेंद्र कुमार मौर्या और भाजपा जिलाध्यक्ष आशीष श्रीवास्तव     |     प्रतापगढ़। लाई चना का ठेला लगाने वाले किशोर की गला रेतकर निर्मम हत्या, घर से कुछ दूर पर मिला किशोर का शव     |     प्रतापगढ़ में सराफा व्यवसाई से लाखों के आभूषण लूट बदमाश हुए फरार , घटना के एक घंटे बाद मौके पर पहुंची पुलिस     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9721975000