Loksabha_Election_2024: आईये जाने सूबे की सलेमपुर लोकसभा सीट का संसदीय इतिहास, वहां का जातिगत समीकरण और चुनावी आंकड़ों की गुणा-गणित

Loksabha_Election_2024: उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से एक सीट सलेमपुर लोकसभा सीट भी है। सांतवें और अंतिम चरण में सलेमपुर में 1 जून को मतदान होना है। देवरिया और बलिया जिले के हिस्सों को जोड़कर बनाया गया है। सलेमपुर लोकसभा क्षेत्र सलेमपुर आजादी से पहले तक सबसे बड़ा तहसील हुआ करता था। सलेमपुर कभी गुप्त वंश और पाल शासकों के अधीन था। कहा जाता है कि यह चारों तरफ घने जंगलों से घिरा था। इसलिए कभी मुस्लिम आक्रमणकारी इस क्षेत्र में आक्रमण के लिए नहीं आ पाए। इस शहर के पास से छोटी गंडक नदी गुजरती है।

लोकसभा सलेमपुर सीट का संसदीय इतिहास

बलिया और देवरिया के कुछ हिस्सों को मिलाकर सलेमपुर लोकसभा सीट का निर्माण किया गया। सलेमपुर कभी देश की सबसे बड़ी तहसील हुआ करती थी। इस इलाके पर कभी गुप्त वंश और पाल शासकों का शासन था। उसके बाद यहां मुस्लिम आक्रांताओं ने शासन किया। ब्रिटिश शासन में 1939 में तहसील के रूप में इसकी स्थापना की गई। यहां से छोटी गंडक नदी गुजरती है।

बिहार बॉर्डर से सटी सलेमपुर संसदीय सीट कहने को तो देवरिया जिले में आती है लेकिन इस सीट पर जीत-हार का फैसला बलिया वाले करते हैं। वजह यह कि इस सीट की तीन विधानसभा बलिया जिले में है। दिलचस्प पहलू यह है कि तीन विधानसभा क्षेत्र बलिया में होने के बावजूद अपवाद को छोड़कर अब तक जितने भी सांसद हुए हैं, वे देवरिया के ही रहने वाले रहे हैं। मतलब बिल्कुल साफ है, भले ही बलिया वालों का वोट निर्णायक होता हो मगर दबदबा देवरिया जिले का ही रहा है। सलेमपुर की यह वह सीट है, जिस पर कभी समाजवादी नेता जनेश्वर मिश्र भी चुनाव लड़ चुके हैं।

सलेमपुर में हुए शुरुआती 5 चुनाव में कांग्रेस पार्टी ने दर्ज की थी, जीत और कांग्रेस के बिश्वनाथ रॉय बने थे, पहले सांसद  

सलेमपुर में हुए शुरुआती 5 चुनाव में कांग्रेस पार्टी ने जीत दर्ज की है। बात करें राजनीतिक इतिहास कि तो साल- 1957 के चुनाव में इस सीट से कांग्रेस के विश्वनाथ राय पहले सांसद बने। साल- 1962 और साल- 1967 के चुनाव में कांग्रेस के विश्वनाथ पांडेय यहां से सांसद बने। साल- 1971 के चुनाव में कांग्रेस के तारकेश्वर पांडेय यहां से सांसद चुने गए। साल- 1977 के चुनाव में भारतीय लोकदल से राम नरेश कुशवाहा यहां से सांसद बने। साल- 1980 के चुनाव में कांग्रेस की वापसी हुई और राम नगीना मिश्रा यहां से सांसद चुने गए। साल- 1984 के चुनाव में राम नगीना मिश्रा फिर से सांसद बने। साल- 1989 और साल- 1991 के चुनाव में जनता दल के हरि केवल यहां से सासंद बने।

साल- 1996 के चुनाव में यहां सपा का खाता खुला और हरिवंश सहाय यहां से संसद पहुंचे। साल- 1998 के चुनाव में हरिकेवल संसद पहुंचे। वहीं साल- 1999 के चुनाव में बसपा के बब्बन राजभर यहां से संसद पहुंचे। साल- 2004 के चुनाव में हरिकेवल प्रसाद सपा के खाते से सांसद चुने गए। साल- 2009 के चुनाव में रामशंकर राजभर बसपा के खाते से सांसद चुने गए। साल- 2014 के चुनाव में यहां बीजेपी का खाता खुला और रविंद्र कुशवाहा सांसद बने। साल- 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी रविंद्र कुशवाहा सलेमपुर के पुनः सांसद निर्वाचित हुए।

लोकसभा सलेमपुर सीट की 5 विधानसभा सीटें  

बात करें विधानसभा सीटों कि तो सलेमपुर लोकसभा में बलिया जिले की 3 विधानसभा सीट और देवरिया जिले की 2 विधानसभा सीटों को मिलाकर इसे बनाया गया है। बलिया जिले कि बेल्थरा रोड, सिकंदरपुर और बांसडीह विधानसभा शामिल है, जबकि देवरिया जिले कि भाटपार रानी और सलेमपुर विधानसभा सीट को मिलाया गया है।

साल- 2017 के विधानसभा चुनाव में इनमें से 3 सीटों पर बीजेपी ने जीत दर्ज की। भाटपार रानी और बांसडीह सीट पर सपा का कब्जा है। सलेमपुर, सिकंदरपुर और बेल्थरा रोड पर बीजेपी ने जीत हासिल की। साल- 2022 के चुनाव में पांचों विधानसभा सीटों में बेल्थरा रोड सीट सुभासपा और सिकंदरपुर विधानसभा सीट सपा के पास है, जबकि भाटपार रानी, सलेमपुर और बांसडीह विधानसभा सीट पर भाजपा के विधायक हैं।

लोकसभा सीट सलेमपुर में मतदाताओं की संख्या

सलेमपुर में कुल 17 लाख, 61 हजार, 282 मतदाता हैं। इनमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 9 लाख, 37 हजार, 207 है। जबकि महिला वोटर 8 लाख, 24 हजार, 15 है। थर्ड जेंडर निर्वाचक की संख्या यहां 60 है। साल- 2019 में यहां कुल मतदान प्रतिशत 55.33% था।

साल- 2014 लोकसभा चुनाव के नतीजों पर एक नजर

साल- 2004 के लोकसभा चुनाव में सपा के हरिकेवल प्रसाद यहां से सांसद बने। हरि केवल प्रसाद को कुल 1 लाख, 95 हजार, 570 वोट मिले। जबकि दूसरे नंबर पर कांग्रेस के भोला पांडेय रहे। भोला पांडेय को कुल 1 लाख, 79 हजार, 317 वोट मिले। तीसरे नंबर पर बसपा के रमा शंकर राजभर रहे, उन्हें 1 लाख, 32 हजार, 13 वोट मिले।

साल- 2014 लोकसभा चुनाव के नतीजों पर एक नजर

साल- 2009 के लोकसभा चुनाव में बसपा के रमा शंकर राजभर यहां से सांसद बने। राजभर को कुल 1 लाख, 75 हजार, 88 वोट मिले। दूसरे नंबर पर कांग्रेस के भोला पांडेय रहे। भोला पांडेय को कुल 1 लाख, 56 हजार, 783 वोट मिले।तीसरे नंबर पर सपा के हरिकेवल रहे। हरिकेवल को कुल 1 लाख, 35 हजार, 414 वोट मिले।

साल- 2014 लोकसभा चुनाव के नतीजों पर एक नजर

घोसी लोकसभा सीट पर साल- 2014 में पहली बार मोदी लहर में बीजेपी ने जीत पाई थी और रविंद्र कुशवाहा यहां से सांसद बने। रविंद्र कुशवाहा को कुल 3 लाख, 92 हजार, 213 वोट मिले थे, जबकि दूसरे नंबर पर बसपा के रविशंकर सिंह रहे। रविशंकर को कुल 1 लाख, 59 हजार, 871 वोट मिले। तीसरे नंबर पर सपा के हरिवंश सहाय कुशवाहा रहे, उन्हें 1 लाख, 59 हजार, 688 वोट मिले। वहीं सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के उम्मीदवार को 66 हजार 84 वोट मिले थे। जबकि कांग्रेस पार्टी यहां पांचवे स्थान पर रही थी।

साल- 2019 लोकसभा चुनाव के नतीजों पर एक नजर

साल- 2019 में बीजेपी की लगातार दूसरी जीत सलेमपुर लोकसभा सीट से हुई। साल- 2019 लोकसभा चुनाव में रवीन्द्र कुशवाहा ने सपा बसपा के उम्मीदवार संयुक्त प्रत्याशी आर एस कुशवाहा को 1 लाख, 12 हजार, 615 वोटों से हराया है। रवीन्द्र कुशवाहा को 4 लाख, 67 हजार, 940 वोट जबकि बसपा के आर एस कुशवाहा को 3 लाख, 55 हजार, 325 वोट मिले थे। जबकि तीसरे स्थान पर रहे सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राजाराम को 33 हजार, 568 वोट मिले थे।

सलेमपुर लोकसभा सीट पर भाजपा-सपा में सीधी जंग, बसपा को काडर वोट सहेजने की चुनौती 

लोकसभा चुनाव- 2024 में यूपी की इस सीट पर भाजपा-सपा में सीधी जंग की पटकथा तैयार हो गई है। बसपा के सामने काडर वोट सहेजने की चुनौती है। भाजपा हैट्रिक की तैयारी में है तो राजभर, यादव और मुस्लिम का समीकरण बनाकर सपा इस सीट को छीनने की पूरी कोशिश में जुटी हुई है। देवरिया जिले की सलेमपुर लोकसभा सीट पर भाजपा इस बार हैट्रिक की तैयारी में है। रविंद्र कुशवाहा पर पार्टी ने लगातार तीसरी बार भरोसा जताया है। कुशवाहा का सीधा मुकाबला इंडी गठबंधन से सपा से मैदान में उतरे पूर्व बसपा सांसद रमाशंकर राजभर से है। राजभर, यादव और मुस्लिम का समीकरण बनाकर सपा इस सीट को छीनने की पूरी कोशिश में जुटी हुई है।

बसपा ने भीम राजभर को मैदान में उतारकर राजभर बिरादरी के वोटों में बंटवारे की पटकथा लिख दी है। पर, दो राजभर प्रत्याशियों के बीच खड़े बिरादरी के मतदाता खामोशी से हवा का रुख भांप रहे हैं। यानी जिधर का पलड़ा भारी होगा, उनका झुकाव उधर ही होगा। बसपा को इस सीट पर दो बार सफलता मिली और दोनों बार उसे राजभर प्रत्याशी उतारने का फायदा मिला। 1999 में बब्बन राजभर और 2009 में रमाशंकर राजभर को मिली सफलता को देखते हुए ही शायद उसने एक बार फिर उन्हीं समीकरणों को आजमाने की कोशिश की।

लोकसभा सीट सलेमपुर पर जातीय समीकरण 

सलेमपुर लोकसभा क्षेत्र की 80 प्रतिशत आबादी सामान्य वर्ग के लोगों की है, जबकि 16 प्रतिशत लोग अनुसूचित जाति हैं। चार प्रतिशत आबादी अनुसूचित जनजाति के लोगों की है। धार्मिक आधार पर देखा जाए तो हिंदुओं की आबादी 86.2 प्रतिशत है तो वहीं 13.5 प्रतिशत मुसलमानों की आबादी है। पिछड़ी जाति खासकर कुर्मी कुशवाहा के मतदाताओं की संख्या अधिक है। एक अनुमान के मुताबिक यहां 15% ब्राह्मण, 18% कुर्मी, मौर्य, कुशवाहा, 14% राजभर, 15% अनुसूचित जाति, 2% यादव, 4% क्षत्रिय, 13% अल्पसंख्यक जाति के मतदाता है। जबकि लगभग 4% वैश्य, 2% कायस्थ, 2% सैंथवार और 4% निषाद व बाकी अन्य जाति के मतदाता है।

औरंगाबाद में मॉब लिंचिंग का मामला; कार सवार तीन लोगों की हत्या को लेकर 6 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, वीडियो फुटेज से हुई पहचान     |     ट्रेन हादसा होते होते टला, प्लेटफॉर्म के पास मालगाड़ी के पहिए पटरी से उतरे, रेलवे टीम राहत-बचाव में जुटी     |     पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में बावरिया गिरोह के 8 सदस्य को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 6 हुए फरार     |     हत्यारा बना रूम पार्टनर; मामूली सी बात पर युवक की रस्सी से गला घोंटकर हत्या     |     हरणी झील में बड़ा हादसा; नाव पलटने से दो शिक्षकों और 13 छात्रों समेत 15 की हुई मौत      |     सरप्राइज देने के लिए पहाड़ी पर गर्लफ्रेंड को बुलाया, फिर चाकू से गला काटकर कर दी हत्या     |     बीमार ससुर से परेशान बहू ने उठाया खौफनाक कदम गला दबाकर की हत्या, आरोपी महिला को पुलिस ने किया गिरफ्तार     |     हत्यारों ने हैवानियत की हदें की पार,मां-बेटी की गला रेतकर बेरहमी से हत्या,शव के साथ हुई बर्बरता,शव देखकर कांप गए देखने वाले     |     अजब गजब:जीवित रहते हुए की अपनी तेरहवीं,तेरहवीं में शामिल हुआ पूरा गांव, 2 दिन बाद हुई मौत,हर कोई रह गया दंग     |     कांग्रेस विधायक के बेटे ने की 64 करोड़ की ठगी; रौब नहीं आया काम, घर में घुसी पुलिस      |     भाई ने बहन को किसी लड़के के साथ देखने पर कुल्हाड़ी से वार करके उतारा मौत के घाट     |     लिव-इन पार्टनर ने महिला की गला घोंटकर की हत्या, दोनों पहले से थे शादीशुदा     |     गैंगस्टर आनंदपाल एनकाउंटर मामले में कोर्ट का बड़ा फैसला, पुलिस अफसरों पर चलेगा अब हत्या का मुकदमा     |     आर‌ओ-एआर‌ओ पेपर लीक कांड का मास्टर माइंड राजीव नयन मिश्रा को इलाहाबाद HC से मिली जमानत     |     नेपाल के काठमांडू में प्लेन क्रैश,18 की मौत, उड़ान भरने के दौरान रनवे पर फिसलने से हुआ हादसा     |     एएमयू कैंपस में फायरिंग,दो कर्मचारियों को लगी गोली,पकड़े गए हमलावर     |     बच्चों सहित स्कूल की बस को सीज करने वाले एआरटीओ पर अनुशासनात्मक कार्रवाई, आरआई निलंबित     |     यूपी में नौ आईएएस और पांच पीसीएस अफसरों का तबादला, फिरोजाबाद और कानपुर नगर के बदले सीडीओ     |     अखिलेश यादव की सपा नेताओं को चेतावनी,भाजपा नेताओं की नो एंट्री,न करें उनकी पैरवी     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9721975000