मुंबई की चकाचौंध और नशे की आदत बनी पति-पत्नी की मौत का कारण, डॉक्टर पिता ने बताई दर्द भरी कहानी

गोरखपुर के ख्यातिलब्ध मनोरोग चिकित्सक डॉक्टर रामशरण दास की बेटी संचिता ने अपने स्कूल के साथी हरीश से दो साल पहले लव मैरिज की थी। शादी के बाद दोनों मुंबई चले गए। वहां की चकाचौंध भरी जिंदगी ने उनमें नशे की आदत डाल दी। पैसे के अभाव और ऐशो आराम की जिंदगी के बीच की खाई बढ़ती गई, जिससे दोनों अवसादग्रस्त हो गए। कोई रास्ता नहीं मिलने पर दोनों आत्महत्या के लिए मजबूर हो गए। इस घटना को लेकर जहां संचिता का परिवार सदमे में है तो वहीं हरीश के घर भी मातम छाया हुआ है।

डॉक्टर रामशरण दास की बेटी संचिता इंटर की पढ़ाई के लिए 2013 में बनारस चली गई थी। वहीं पर उसकी मुलाकात पटना के रहने वाले हरीश से हुई। दोनों की दोस्ती परवान चढ़ी तो दोनों ने शादी का निर्णय कर लिया। हालांकि हरीश के परिवार वाले शादी के लिए तैयार नहीं थे। बावजूद इसके बेटी की खुशी के लिए डॉक्टर रामशरण ने हरीश से गोरखपुर में 2022 में अपनी बेटी की शादी बड़ी धूमधाम से की। हालांकि हरीश के परिवार का कोई भी सदस्य शादी में नहीं आया था।

HDFC बैंक में नौकरी करता था हरीश

शादी के बाद बेटी और दामाद ने मुंबई का रास्ता पकड़ लिया। एमबीए किए हुए हरीश को एचडीएफसी बैंक में नौकरी मिल गई, जबकि संचिता फैशन डिजाइनिंग का कोर्स करने के बाद इस क्षेत्र में अपना करियर बनाने के लिए प्रयास कर रही थी। मुंबई में दोनों वन बीएचके के फ्लैट में रहते थे, जिसका किराया करीब 45,000 रुपए प्रतिमाह था। अचानक संचिता की तबीयत खराब हो गई तो हरीश ने उसकी देखभाल के लिए नौकरी छोड़ दी। ऐसे में उन दोनों की समक्ष आर्थिक कठिनाई आने लगी तो संचिता के पिता डॉक्टर रामशरण दास ने बीते फरवरी माह में दोनों को गोरखपुर बुला लिया। डॉक्टर दोनों का खर्चा उठाने की कोशिश करते थे।

पति के गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई

बीते छह जुलाई को हरीश ने कहा कि वह पटना जाना चाहता है। संचिता उसे गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर छोड़कर वापस घर आ गई, लेकिन हरीश पटना न जाकर सारनाथ पहुंच गया, लेकिन इसकी जानकारी उसने किसी को नहीं दी। उसने अपने घरवालों को बताया था कि वह छह जुलाई को दोपहर बाद 3 बजे पटना आ रहा है, लेकिन जब वह शाम 6:00 बजे तक पटना नहीं पहुंचा तो उसकी बहन ने संचिता को फोन कर उसके विषय में पूछा। हरीश के पटना नहीं पहुंचने की जानकारी मिलने पर संचिता परेशान हो गई और वह रात में 1:00 बजे कैंट थाने पर पहुंच गई और पति के गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई।

सर्विलांस पर नंबर लगाया तो हरीश का पता चला

इस दौरान हरीश के नंबर को सर्विलांस पर लगाने पर पता चला कि वह बनारस में है। संचिता अपने परिजनों के साथ बनारस जाने की तैयारी सात जुलाई को सुबह कर रही थी। इसी बीच सुबह 9:00 बजे हरीश के आत्महत्या करने की सूचना मिली। यह सदमा वह बर्दाश्त नहीं कर पाई। पति के मौत की खबर सुनते ही वह दौड़ते हुए अपने पिता के मकान के छत पर गई और वहीं से कूद कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर दी। शादी के समय संचिता व हरीश ने साथ जीने-मरने की कसम खाई थी, जिसको उन्होंने अपनी आखिरी सांस तक निभाया।

पोस्टमार्टम के बाद जब संचिता का शव आवास पर आया तो उसे एक बार फिर दुल्हन की तरह सजाया गया। सोमवार को अमेरिका से संचिता का भाई संचित और हैदराबाद से बहन आस्था के आने के बाद उसका दाह संस्कार राप्ती नदी के तट राजघाट पर किया गया। पिता ने बेटी को मुखग्नि दी। हरीश का अंतिम संस्कार वाराणसी के घाट पर उसके परिजनों ने किया।

संचिता को कौन सी बीमारी थी?

पिता डॉक्टर रामशरण ने बताया कि संचिता को मानसिक विकार था, जिसे इंपल्सिव मेंटली डिसऑर्डर कहा जाता है। यह कोई खास बीमारी नहीं है। इससे ग्रसित व्यक्ति की लक्षणों के आधार पर पहचान की जाती है। इससे जो भी व्यक्ति प्रभावित होता है, वह अचानक कोई भी निर्णय ले लेता है। उसे सही गलत की जानकारी नहीं हो पाती है। अचानक गलत लिए गए फैसलों से ही मरीज की पहचान की जाती है। बेटी को जैसे ही दामाद के सुसाइड करने की जानकारी मिली, वह दौड़कर छत पर गई और वहां से कूद कर अपना जीवन खत्म कर लिया। हालांकि मैंने बेटी और दामाद की खुशी के लिए हर उपाय किए, लेकिन मैं उनको वह खुशी नहीं दे पाया।

पुलिस की जांच-पड़ताल में पता चला कि हरीश और संचिता ने मुंबई की हाईप्रोफाइल जीवन शैली को अपना लिया था, जिसके चलते बड़े लोगों के साथ उनका उठना बैठना हो गया था। दोनों को नशे की आदत भी हो गई थी। हरीश की जब नौकरी छूट गई तो पैसे का अभाव हुआ, जिसके चलते दोनों परेशान हो गए। ऐसे में अपनी ऐश की जिदगी की जरूरतों को पूरा करने में उनको काफी दिक्कत होने लगी और वह अवसादग्रस्त हो गए। जीवन से निराश दोनों ने अपने जीवन को ही खत्म कर दिया।

दामाद के लोन की EMI भी भर रहे थे संचिता के पिता

पुलिस सूत्रों ने बताया कि परिजन दंपति की नशे की आदत छुड़वाने के लिए हर प्रयास कर रहे थे, लेकिन अभी तक सफल नहीं हो पाए थे। दंपति कई बार विदेश की सैर पर भी जा चुके थे। ऐसे में जब उनकी चकाचौंध भरी जिंदगी की गाड़ी पटरी से उतरी तो उनको कोई रास्ता नहीं सूझ रहा था और यह दुर्भाग्यपूर्ण निणर्य ले लिया। संचिता के पिता डॉ. रामचरण ने बताया कि दामाद ने पढ़ाई के दौरान एजुकेशन लोन लिया था, जिसकी 45,000 ईएमआई आती थी। वह भी मैं ही भर रहा था। पांच जुलाई को भी ईएमआई की रकम भरी और उसकी पर्ची दामाद को भेजा था, लेकिन मेरे सारे प्रयासों के बाद भी मेरी बेटी और दामाद हमेशा के लिए दूर हो गए। मैं उनको उनके अनुसार खुशियां नहीं दे पाया।

 

औरंगाबाद में मॉब लिंचिंग का मामला; कार सवार तीन लोगों की हत्या को लेकर 6 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, वीडियो फुटेज से हुई पहचान     |     ट्रेन हादसा होते होते टला, प्लेटफॉर्म के पास मालगाड़ी के पहिए पटरी से उतरे, रेलवे टीम राहत-बचाव में जुटी     |     पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में बावरिया गिरोह के 8 सदस्य को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 6 हुए फरार     |     हत्यारा बना रूम पार्टनर; मामूली सी बात पर युवक की रस्सी से गला घोंटकर हत्या     |     हरणी झील में बड़ा हादसा; नाव पलटने से दो शिक्षकों और 13 छात्रों समेत 15 की हुई मौत      |     सरप्राइज देने के लिए पहाड़ी पर गर्लफ्रेंड को बुलाया, फिर चाकू से गला काटकर कर दी हत्या     |     बीमार ससुर से परेशान बहू ने उठाया खौफनाक कदम गला दबाकर की हत्या, आरोपी महिला को पुलिस ने किया गिरफ्तार     |     हत्यारों ने हैवानियत की हदें की पार,मां-बेटी की गला रेतकर बेरहमी से हत्या,शव के साथ हुई बर्बरता,शव देखकर कांप गए देखने वाले     |     अजब गजब:जीवित रहते हुए की अपनी तेरहवीं,तेरहवीं में शामिल हुआ पूरा गांव, 2 दिन बाद हुई मौत,हर कोई रह गया दंग     |     यूपी में लोकसभा चुनाव परिणाम के डेढ़ माह बाद भी हार पर मंथन जारी, एक दूसरे पर ठीकरा फोड़ने की हो रही कोशिश      |     आतंकी हमले से दहला कश्मीर तो एक्टिव हुए डिफेंस मिनिस्टर राजनाथ सिंह, आर्मी चीफ को दिया बड़ा निर्देश     |     दोस्त की शादी अटैंड करने आए युवक की सड़क हादसे में हुई मौत     |     दर्दनाक सड़क हादसा; एक ही परिवार के 6 लोगों की मौत, 5 लोग हुए घायल     |     मामा की शादी में आई 3 साल की बच्ची की बेरहमी से हत्या, श्मशान पर बिना कपड़ों की मिली लाश     |     दूल्हे ने जयमाला डालते ही दुल्हन को जड़ा थप्पड़, मच गया बवाल     |     लखनऊ के पंतनगर में मकान पर लगे लाल निशान तो गुस्साए लोगों ने घर के बाहर चिपका दी रजिस्ट्री की कॉपी     |     बोरे से मिला महिला का अर्धनग्न शव, पहचान न हो सके इसलिए  तेजाब से जलाया चेहरा     |     कुंडा विधायक राजा भैया के पिता को किया गया हाउस आरेस्ट, मोहर्रम जुलूस पर करने वाले थे यह काम, जानते ही घबरा गई पुलिस     |     भीषण सड़क हादसा; बस को ट्रक ने मारी टक्कर 6 लोगों की मौत, 8 लोग हुए घायल     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9721975000